हैल्लो दोस्तों,

आज हम लेकर आये है एक हिंदी कविता (Hindi Kavita ) Hindi Poem जिसका शीर्षक है

“वक्त जो तू ज़ाया कर रहा है”

[su_heading size=”20″](Hindi Kavita ) Hindi Poem[/su_heading]

 

इस सुन्दर कविता को हमारे लेखक और मित्र ऋषभ जैन ने अपनी कलम से लिखा है

ये एक Hindi Kavita  है जो की Inspirational Short Poem है तो चलिए शुरू करते है।

 

Hindi Kavita

Short Hindi Poem

 

 

 

रोने का हक़ नहीं तुझे ,

वक़्त जो तू ज़ाया कर रहा है  !

 

आंसू बहाना ही है तो ,

कुछ ऐसा कर की ख़ुशी के आंसू बहे  !

 

 

सपना देखने का हक़ नहीं है तुझे ,

वक़्त जो तू ज़ाया कर रहा है !

 

सपने देखने ही है तो,

ऐसा सपना देख की कईयों का सपना बन जाए !

 

 

इसी के साथ कविता की अंतिम पंक्तिया 

 

 

ख़ुशनसीब है तू जो अपने सपने जानता है 

कईयों का तो वक्त ही अपने सपने ढूंढने में ज़ाया हो जाता है !

 

आशा करता हूँ की आपको Hindi Kavita की ये चंद पंक्तिया बहुत अच्छी लगी होगी।

हमें निचे कमेंट करके जरूर बताइये।

Hindi Kavita || Hindi Short Poem

Read More Post :-

 

अपने सभी फ्रेंड सर्किल को यह

Inspirational Hindi  Poem  (वक्त जो तू ज़ाया कर रहा है)  को Facebook और  Whatsapp पर जरूर शेयर करे।




अगर भविष्य में भी ऐसी ही कहानी पढ़ना चाहते है तो अभी Real_Inspiration_For_U को फॉलो कीजिये।

फॉलो या सब्सक्राइब करने के लिए स्क्रीन के निचे दांयी ओर  एक घंटी 🔔 बनी हुई है उसे बजा दे और Notification Allow कर दे।

 

मिलते है फिरसे एक नई वास्तविक कहानी या कविता को लेकर।


This Short Hindi Poem is written by Rishabh Jain. He is my friend and currently working in one of  the reputed MNC in Pune. He is very fond of writing Short Stories and Short Poems in his spare time.

[su_heading size=”20″]Hindi Kavita Hindi Poem[/su_heading]