💖 Story In Hindi 💖

 संगमरमर के दो पत्थर 
 
नमस्कार दोस्तों 🙏 ,
  • Best Story In Hindi Language :- “आज की कहानी बहुत ही मजेदार 👌 होनी है जिसका शीर्षक है संगमरमर के दो पत्थर जो की सरल हिंदी भाषा (Story in Hindi) में बताई गई है। अंत में एक जीवनोपयोगी शिक्षा बताई है तो इसे अंत तक एवं पुरे उत्साह के साथ जरूर पढ़े 👀

मुझे आशा ही नहीं वरन पूर्ण विश्वास है की ये कहानी आपको बहुत अच्छी लगेगी।  तो चलिए शुरू करते है 🙇


Story In Hindi

कहानी प्रारम्भ ”  संगमरमर के दो पत्थर 💎 💎”  

Story In Hindi

एक नगर में विशालकाय म्यूज़ियम ( अजायबघर ) 🏢 था। वह विशालकाय म्यूजियम अपने संगमरमर  की कारीगरी के लिए प्रसिद्द था और खास कर के उसके अंदर रखी हुई एक चमकदार 🗽 मूर्ति 🗽 जिसे देखने के लिए लोगो की भीड़ हर दम लगी रहती थी। यह मूर्ति अपनी नक्काशी के लिए जानी जाती थी।
चाहे उस म्यूजियम की मीनार हो या दिवार , चोटी हो या गुम्बद सभी कुछ संगमरमर के पत्थर से बना हुआ था।
यहाँ तक की उस विशाल म्यूजियम के मध्य में रखी हुई वह बड़ी सी मूर्ति भी संगमरमर के पत्थर से ही बनी हुई थी जिसे चारो दिशाओ से देखने के लिए हजारो लोग आते थे। दिन प्रतिदिन हजारो की संख्या में  भीड़ होती थी।
सप्ताह के सातो दिनों में भोर समय में यह म्यूजियम खुलता तो रात्रि के समय बंद कर दिया जाता।




एक ऐसी ही रात में जब म्यूजियम बंद था और म्यूजियम में कोई नहीं था तो संगमरमर की बनी हुई सीढ़ी ने म्यूजियम के मध्य रखी उस मूर्ति से कुछ कहा।
Story In Hindi
सीढ़ी :- हे मूर्ति ! क्या तुम भी संगमरमर से बनी हुई है ?
मूर्ति :-  हाँ सीढ़ी ! मैं भी संगमरमर से ही बनी हूँ।
सीढ़ी :- तो फिर केवल तुम्हे ही देखने के लिए इतने सारे लोग क्यों आते है ? मैं भी तो संगमरमर से ही बनी हुई हूँ।  मुझे तो कोई नहीं पूछता है।  यहाँ तक की तुम्हे देखने के लिए लोगो की भीड़ मुझ पर चढ़ती है। मुझे कोई नहीं पूछता है।  इस म्यूजियम में केवल तुम्हारी ही पूछ परख होती है।  आखिर ये नाइंसाफी क्यों है ?
मूर्ति :-  हे सीढ़ी ! जो बात तुम में और मुझमे फरक पैदा करती है इसका एक सीधा सा उत्तर है।
सीढ़ी :- तो कृपा करके मुझे इसका उत्तर दो।
मूर्ति :- तुम्हे वो बात ध्यान होगी जब यह म्यूजियम बन रहा था।  हम दोनों को एक ही चट्टान से तोड़ कर लाया गया। बहुत सारे कारीगर हम संगमरमर के पत्थर पर काम कर रहे थे।  उनके पास बहुत सारे धारदार और नुकीले हथियार थे जिनकी सहायता से वे हम पर अपनी कारीगरी कर रहे थे, हथोड़ी और छेनी से हम पर निरंतर वार कर थे।
सीढ़ी :- हाँ मुझे ये बात अच्छे से ध्यान है। मैं हथियारों से बहुत डर गई थी।  लेकिन तुम ये बात क्यों कर रही हो ?
मूर्ति :- जब बात मूर्ति बनाने की आई थी तो उन्होंने तुम्हे चुना ( सीढ़ी को ) लेकिन हथोड़े और छेनी की मार तुम सहन नहीं कर पा रही थी। नुकीले हथियारों का मार से तुम या तो बार-बार टूट रही थी या फिर कठोर बन रही थी।
तुम्हारे इस रवैये के कारण उन कारीगरों ने तुन्हे छोड़कर फिर मुझे चुना , मैंने उस हथोड़े की मार सहन कर ली।  उन चुभिले धारदार हथियार से मुझे भी डर लगा लेकिन मैं ने हार नहीं मानी और अंत में मुझे मूर्ति की शकल मिली और तुम्हे सीढ़ी का आकर मिला।




ये जो हिंदी कहानी Story In Hindi  संगमरमर के दो पत्थर मैंने आपको सुनाई है इससे मिलने वाली शिक्षा कुछ इस प्रकार है
  शिक्षा  
Moral Of The Hindi Story
इस हिंदी कहानी (Best Story in Hindi )   संगमरमर के दो पत्थर से हमें ये शिक्षा मिलती है की  हम सभी मानव एक अद्भुत शक्ति के द्वारा बनाये गए है , जिस प्रकार वो दोनों पत्थर एक ही खाई और चट्टान से लाए गए थे।  जिस तरह एक पत्थर छेनी और हथोड़े की मार नहीं सहन कर पाया तो वह सीढ़ी बन गया, वंही दूसरी ओर एक अन्य पत्थर छेनी – हथोड़े की मार से नहीं डरा तो वो मूर्ति बन गया।  इसका सीधा सा अर्थ यह है की अगर हमे जीवन में कुछ अच्छा करना है या बड़ा बनना है तो हमें भी समस्या रूपी छेनी-हथोड़े की मार सहन करनी पड़ेगी।  अगर हम ये मार सहन ना कर पाए तो हमें सीढ़ी रूपी एक सामान्य जीवन जीना पड़ेगा और अंत तक पछतावे के आलावा हमारे हाथ में कुछ ना होगा ।  तो अगर हमने जीवन में आने वाली समस्याओ और कठिनाइयों का डट कर सामना कर लिया तो बड़ा से बड़ा लक्ष्य पाना भी आसान हो जायेगा।
और किसी ने ठीक ही कहा है ,
अगर आपके जीवन में समस्याए बड़ी होगी तो अंत में मिलने वाला फल भी बड़ा ही होगा।

तो दोस्तों कैसी लगी ये अद्भुत और प्रेरणादायक हिंदी कहानी “Story In Hindi” ?

मुझे निचे कमेंट करके जरूर बताये।

अपने सभी फ्रेंड सर्किल को यह प्रेरणादायक कहानी ( संगमरमर के दो पत्थर )  को Facebook और  Whatsapp पर जरूर शेयर करे।

अगर भविष्य में भी ऐसी ही कहानी पढ़ना चाहते है तो अभी Real_Inspiration_For_U को फॉलो कीजिये।

फॉलो या सब्सक्राइब करने के लिए स्क्रीन के निचे दांयी ओर  एक घंटी 🔔 बनी हुई है उसे बजा दे और Notification Allow कर दे।

मिलते है फिरसे एक नई कहानी को लेकर।  

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।    

NOTE :- I wrote this Article Named ” Best Story In Hindi :- संगमरमर के दो पत्थर  in Hindi Language. I researched a lot to write this article. This Story is based on my Internet Research and it is not my Original Content. My Aim is to just provide Motivational and Inspirational Article in very Basic Hindi Language. So if you found any Grammatical Error in this article then please let me know so that i can correct it ASAP. ThankYou

Story In Hindi