Akbar Birbal Stories in Hindi : अकबर बीरबल की कहानिया

नमस्कार दोस्तों,

आज हम बात करेंगे अकबर बीरबल की कहानी (Akbar Birbal Story) की, ऐसी कहानिया जिसमे बीरबल की चतुरता हमेशा उसे विजेता बनाती है। हम सभी ने बचपन में अकबर-बीरबल की मनभावक कहानिया जरूर पढ़ी होगी और अभी भी जरूर पढ़ते होंगे।

तो चलिए आनंद लेते है ऐसी ही एक ओर कहानी का परन्तु इसमें बीरबल की बुद्धिमता की बात नहीं करेंगे वरन बीरबल की ज्येष्ठ पुत्री की तेज बुद्धि की परीक्षा होगी। तो चलिए शुरू करते है…

ये कहानी जरूर पढ़े :-

Akabar Birbal Story in Hindi :-

साम्राज्य में हर तरफ बीरबल की चतुरता की चर्चा चल रही थी ये सब देखकर महाराज अकबर ने बीरबल की बुद्धि की परीक्षा लेनी चाही।

अकबर ने अपने सेवको से बीरबल को बुलावा भेजा।  जैसे ही बीरबल महाराज अकबर के पास पंहुचे तो अकबर ने बीरबल से कहा

“हमें एक विशेष दवाई की जरुरत है जिसको बनाने के लिए वैद्य को बैल का दूध चाहिए, तो तुम जल्दी से बैल के दूध का प्रबंध करो।”

वैसे तो बीरबल हाजिर जवाबी था और महाराज की मंशा भी समझ गया था की महाराज अकबर मेरी परीक्षा लेना चाहते है।

बीरबल ने अकबर से एक हफ्ते की मोहलत मांगी और महाराज अकबर ने कहा की ” तुम्हे जितना समय लगे उतना लगाओ किन्तु बैल का दूध का प्रबंध हो जाना चाहिए। ”

घर आकर बीरबल इस सोच में पढ़ गए की करे तो आखिर क्या करे। उतने में बीरबल की बड़ी बेटी ने बीरबल के लिए खाना लगाया और कहने लगी की “पिताजी ! भोजन कर लीजिये ”

किन्तु बीरबल अभी भी सोच में डूबा हुआ था। ये देखकर बीरबल की बेटी कहती है की

” पिताजी ! क्या हुआ ? आप परेशान क्यों है , मुझे बताइये मैं समाधान निकालती हूँ आपकी समस्या का ”

ये सुनकर बीरबल ने अपनी सारी कहानी को बयान कर दि और सोचने लगे की बैल का दूध कहा से लाओ ?

तब बीरबल की बेटी ने कहा की बस इतनी सी बात , आप निश्चिंत होकर भोजन कीजिये, मैं इसका समाधान निकाल लुंगी।

ये कहानी भी जरूर पढ़े :-

रात्रि का पहर चल रहा था। बीरबल की बेटी अपने घर से कुछ पुराने वस्त्र को लेकर नदी किनारे धोने चली गई। उसी नदी के बिलकुल करीब सटा हुआ महाराज अकबर का महल था।  अकबर अपने शयन कक्ष में विश्राम कर रहे की अचानक कपडे धोने के शोर से उनकी निद्रा में भंग पड़ा।




अकबर ने अपने सेवको और द्वारपालों को बुलाकर कहा की ” बाहर जाकर देखो , ये किसका दुस्साहस है जो इतनी रात को कपडे धो रहा है।  ये भी कोई समय है ”

द्वारपाल, महाराज से आज्ञा लेकर बाहर देखने गए तो एक देखा की एक नवयुवती नदी के किनारे कपडे धो रही है वो भी पटक-पटक कर।

महाराज के सामने उसे बंदी बनाकर लाया गया तो महाराज ने उस युवती से पूछा की

“तुम इस समय कपडे क्यों धो रही हो , क्या ये उचित समय है।  कारण बताओ और अगर कारण उचित नहीं हुआ तो दंड भोगने के लिए तैयार रहो ”

Akabar Birbal Stories in Hindi

तब उस युवती ( अर्थात बीरबल की पुत्री ) ने हाथ जोड़ते हुए कहा

“क्षमा कीजिये महाराज ! आज मेरे पिताजी को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई है, पिताजी ने एक पुत्र को जना है और मैं पुरे दिन भर व्यस्त थी तो अब समय मिला तो कपडे धो रही हूँ। ”

महाराज बीरबल ने अचम्भित स्वर में कहा  “अरे !! ये कैसी बात कर रही हो ? कंही तुम मुर्ख तो नहीं।  एक पुरुष भला कैसे संतान को पैदा कर सकता है। ”

उचित समय को पाकर उस युवती ने तपाक से कहा  ” बिलकुल संभव है महाराज , अगर एक बैल दूध दे सकता है तो एक पुरुष भी संतान को पैदा कर सकता है ”

अब तक महाराज अकबर समझ गए थे हो न हो ये युवती बीरबल की ज्येष्ठ पुत्री है।  पूछने पर उस युवती ने हाँ में जवाब दिया।

तब महाराज ने कहा  ” वाकई में मान गए भई , जितनी तेज बुद्धि बीरबल की है उतनी ही तेज बुद्धि तुम्हारी भी है।  तुम्हे पूरा हक़ है बीरबल की पुत्री होने का ”  ये कहकर महाराज ने बीरबल की बेटी को ससम्मान घर लौटाया।

और इस तरह बीरबल के साथ-साथ साम्राज्य का हर व्यक्ति बीरबल की बेटी की बुद्धि का लोहा मानने लगे।

तो दोस्तों कैसी लगी ये कहानी “Akabar Birbal Stories in Hindi” निचे कमेंट करके बताये।  अपने सभी दोस्तों के साथ इस मनोरंजक कहानी को फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करे।

 

Relate Articles here :

Akabar Birbal Stories in Hindi

ऐसी ही और मनोरंजक और प्रेरणादायक कहानी (Motivational and Inspirational Story in Hindi) पढ़ने के लिए हमें फोलो कीजिये।  फॉलो करने के लिए

निचे बाई तरफ एक घंटी बनी हुई है उसे दबा दे।

I hope You like This Story name Akabar Birbal Stories in Hindi

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।  आपका दिन शुभ रहे।


Note:- I write this story in Hindi language and this is not my own content. I read it from somewhere else. My ultimate gol is provide Inspirational content. If you found any grammatical error in this Story name Akabar Birbal Story in Hindi  please let me know in comment box.