Failure Success Story:
जब परीक्षा परिणाम आता है और अगर किसी छात्र को कम अंक मिलते है तो वो निराशा और अवसाद में चला जाता है और सोचने लगता है की अब सब कुछ ख़तम , लेकिन ऐसा नहीं है , इसीलिए आज में आपके लिए लाया हूँ एक Failure Success Story
जिसमे हम बात करेंगे उन महान व्यक्तियों की जिन्होंने अपने स्कूल समय में तो कुछ खास नहीं किया किन्तु बाद में उन्होंने इतिहास रचा।
ऐसे विद्यार्थी जो अच्छे मार्क्स (अंक) लाते है वे तो काफी खुश होते है लेकिन उनका क्या जो बहुत कम Marks लाए है या Fail ही हो गए है।
वो कैसे अपने आस पास के माहौल को Face करेंगे?
दूसरे लोगो को क्या जवाब देंगे ?
लोग क्या कहेंगे ?
ऐसे ही अनगिनत सवाल दिमाग में घूमते रहते है जब कोई Student अपनी final exam में Fail हो जाता है।

लेकिन मेरा सवाल ये है की वो कागज़ का टुकड़ा जिसे हम Result या Mark Sheet कहते है वो कैसे हमारे भविष्य को तय कर सकता है।

ये जरूर पढ़े :-

शिक्षा बहुत जरुरी है लेकिन ऐसा कहीं नहीं लिखा है की 95 % Marks लाने वाला बहुत बड़ा आदमी या मालिक बन जाएगा और 50 – 60 % लाने वाला छोटा आदमी या नौकर ही बनेगा। एक व्यक्ति की सफलता उसके परीक्षा परिणाम पर निर्भर नहीं करता है।हो सकता है कल को वो 50 – 60 % लाने वाला व्यक्ति अपनी काबिलियत की बदौलत एक बड़ी कंपनी खड़ी कर दे जिसका Annual Turnover लाख या करोडो हो और उसी कंपनी में वो दूसरा 95 % Marks लाने वाला Student नौकरी माँगने आये, तो आप बताये की अब कोन किसका इंटरव्यू लेगा।

Must Read :-

APJ Abdul Kalam Motivational Quotes in Hindi (Top 37) 

सफलता केवल परीक्षा परिणाम पर निर्भर करती है ये बिलकुल असत्य है।

ऐसी कई सारी वास्तविक कहानिया भरी पढ़ी है जिनको सुनके या पढ़के आप प्रेरित हो सकते है।  इसलिए मैं  लेकर आया हूँ हिंदी में {HINDI} 2 छोटी कहानिया (Short Motivational Story in Hindi)

1 ) थॉमस एल्वा एडिसन :-

चाहे आप विज्ञान से सम्बन्ध रखते हो या नहीं लेकिन महान वैज्ञानिक  एडिसन को तो आप सभी जरूर जानते होंगे। इनकी वजह से हम सभी प्राणियों को प्रकाश जैसी बड़ी सौगात मिली।
थॉमस एल्वा एडिसन ने लाइट बल्ब का अविष्कार किया था जो बहुत बड़े अविष्कार की गिनती में आता है।

लेकिन क्या आप जानते है की वे बचपन में बहुत ही मंद बुद्धि या यूँ कहे की पढाई में कमजोर छात्र थे।

“एक बार की बात है जब एडिसन स्कूल से घर आये और एक पर्चा अपनी माँ को देते हुए कहने लगे की Teacher ने कहा है की ये पत्र तुम अपनी माँ को दे देना।

जब माँ ने वो पत्र पढ़ा तो माँ की आँखों से आंसू निकलने लगे।

माँ के आंसू देख एडिसन अपनी माँ से पूछने लगे की माँ क्या लिखा है इस पत्र में जिसे पढ़कर तू रोने लगी।

तब माँ ने कहा की इस पत्र में लिखा है की आपका बेटा पढाई लिखे में बहुत होशियार है और हमारा स्कूल उसके सामर्थ्य के आगे कुछ भी नहीं है और हमारे स्कूल में इतने अच्छे टीचर्स भी नहीं है जो इसे पढ़ा सके तो कृपया करके इसे आप खुद ही पढ़ाए।

साल बितते गए और थॉमस एल्वा एडिसन सदी के महान वज्ञानिक और आविष्कार करता बने।

किसी काम की वजह से वे अपने पुराने संदूक में कुछ ढूंढ रहे थे तो उसमे वही पुरानी चिट्ठी मिली जो टीचर ने माँ को देने को कही थी।  जब एडिसन ने उसे पढ़ा तो वे जोर जोर से रोने लगे क्योकि उस चिट्ठी में लिखा था की

आपका बेटा बहुत ही ज्यादा मंदबुद्धि है।  पढाई में बहुत कमजोर है , हम इसे आगे नहीं पढ़ा सकते तो अबसे इसे स्कूल भेजने की कोई जरुरत नहीं है। ”

तो देखा आपने की कैसे एक विद्यार्थी को यह कहके स्कूल से निकाल दिया की ये मंद बुद्धि है, इसे हम नहीं पढ़ा सकते और आगे चलकर यहीं विद्यार्थ एक महान वैज्ञानिक और अविष्कार कर्ता बनता है।

थॉमस एल्वा एडिसन का एक कथन (Quote )

I have not failed
 I have just found
 10,000 ways that won’t work” 

Read Also :-

 




दूसरी कहानी

2) वाल्ट डिज्नी :- 

अगर आप 90’s में जन्मे बच्चे है और कार्टून देखना पसंद हो तो मिक्की माउस और मिनी माउस कार्टून तो जरूर देखा होगा। ये कार्टून केवल अमेरिका में नहीं बल्कि पुरे विश्व भर में प्रसिद्द है,

इस बहुचर्चित कार्टून के रचनाकार (Creator) वाल्ट डिज्नी है।

एक बार की बात है जब एक न्यूज़ पेपर एडिटर ने वाल्ट डिज्नी को ये कहके निकाल दिया की तुम्हारे अंदर Imagination और Creativity की कमी है और तुम आलसी किस्म के प्राणी है।
लेकिन इसके उलट वे एक महान Cartoon Character के रचनाकार बने।

वाल्ट डिज्नी का एक कथन (Quote)

If you can Dream it,
 You can Do it” 

तो दोस्तों हमारा भविष्य इस बात पर निर्भर नहीं करता है की स्कूल या कॉलेज में हमारे कितने अंक आये है।
आपका भविष्य केवल आप लोग ही तय कर सकते है।  लोग क्या कहेंगे या क्या सोचेंगे ये उनका काम है तो उनको करने दो।

जरूर पढ़े :-

हिंदी मीडियम छात्रा जो कलेक्टर बनी ( Competitive Exam Motivation) 

तो अगर आपके मार्क्स कम आये है या आप फेल हो गए हो तो चिंता करने की या परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है बल्कि फिर से उठो और दोगुने उत्साह से आगे बड़ो।

दोस्तों मुझे आशा है की आप सभी को ये आर्टिकल “{HINDI} | CBSE RESULT | FAILURE SUCCESS STORY IN HINDI” बहुत पसंद आया होगा।

निचे अपनी राय (COMMENT ) जरूर दे और भी ऐसी Motivational और Inspirational कहानी पढ़ना चाहते है तो इस ब्लॉग को निचे  SUBSCRIBE  करे या FOLLOW  करे ताकि आप पढ़ सके ऐसी प्रेरणादायक और शिक्षाप्रद कहानिया वो भी सब से पहले , और ध्यान रखे SUBSCRIBE  करने या FOLLOW करने का कोई पैसा नहीं लगेगा , तो जल्दी से कीजिए।
अगर कहानी अच्छी लगी है तो इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ Facebook Whatsapp , twtter और Google + पर जरूर शेयर करे

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।  आपका दिन शुभ रहे।


NOTE :- This Story is in Hindi Language and I researched a lot and tried my Best to write this Article but in case if you found any grammatical mistakes in this Article , you can Comment down below. Please Cooperate with us, Keep Supporting and Keep Reading.