पुणे का चाय बेचने वाला (नवनाथ येवले) कमाता है 12 लाख रूपया महीना – येवले टी हाउस (Yewle Tea House)

दोस्तों,
आज मैं आपके सामने एक बहुत ही इंटरेस्टिंग स्टोरी शेयर करने जा रहा हूँ , जो आपको खुद का अपना बिज़नेस शुरू करने के लिए भी प्रेरित करेगी। तो चलिए शुरू करते है।
भारत जैसे विकासशील देश में जंहा हर एक माता-पिता चाहते है की उनकी संतान अच्छे से पढ़ लिख कर डॉक्टर, इंजीनियर, वकील या चार्टर्ड अकाउंटेंट बन कर एक अच्छी सी नौकरी करे और सेटल हो जाए।
लेकिन अब विद्यार्थियों की सोच बढ़ रही है , इंजीनियर और डॉक्टर की पढाई करने के बावजूद बच्चे अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते है। चाहे वह बिज़नेस चाय बनाने का ही क्यों ना हो।
ऐसी ही एक कहानी है पुणे के रहने वाले नवनाथ येवले (Navnath Yewle) की जो चाय बेच कर हर महीने का 12 लाख रुपये से ज्यादा कमाते है ,, चौंक गए ना !! जी हां ये बिलकुल सत्य है.
“नवनाथ येवले” जो पुणे में रहते है और अपनी अच्छी खासी पढाई के बावजूद और अच्छी इनकम वाली नौकरी को छोड़कर चाय बेचने का बिज़नेस शुरू किया। उनकी चाय की स्टाल का नाम है – “येवले टी हाउस 
दोस्तों यंहा मुझे रईस फिल्म का एक डायलाग याद आता है जिसे शाहरुख़ खान कहते है की –
कोई धंधा छोटा नहीं होता है और धंधे से बड़ा कोई धरम नहीं होता “
बिलकुल सही कहा गया है , कोई भी धंधा छोटा मोटा नहीं होता है , केवल मनुष्य की सोच छोटी होती है जो उसे आगे बढ़ने से रोकती है।  इंसान केवल यह सोचता रह जाता है की अगर में ये बिज़नेस शुरू करता हूँ तो लोग क्या कहेंगे।
ये भी पढ़े :- 
लेकिन नवनाथ येवले (Navnath Yewle)ने ऐसा नहीं सोचा , और समाज की परवाह किये बगैर अपने दिल की सुनी , और शुरू किया अपना चाय का बिज़नेस “येवले टी हाउस ” जिसका वार्षिक टर्न ओवर 1.5 करोड़ से ज्यादा है
Yewle Tea House के फाउंडर Navnath Yewle  कहते है की हमारे चाय के बिज़नेस में डायरेक्टर बॉडी में 4 लोग ओर है – गणेश येवले, नीलेश येवले, मंगेश येवले और तेजस येवले।
अभी पुणे शहर में हमारे 3 आउटलेट है और हर एक सेंटर पर 12 के करीब लोग काम करते है तो नवनाथ जी अपने इस बिज़नेस से ओर लोगो को भी रोजगार मुहैया करा रहे है आगे इस स्टार्टअप को 100 आउटलेट तक ले जाने की प्लानिंग है और फिर इसे इंटरनेशनल ब्रांड बनाने पर जोर दिया जायेगा।

येवले टी हाउस की शुरुआत :-

नवनाथ ने अपने चाय के बिज़नेस की शुरुआत 2011 में की थी और 4 सालो तक चाय जैसे प्रोडक्ट पर अपनी रिसर्च की और अंत में एक फाइनल टेस्ट को फिक्स करके अपने चाय के बिज़नेस को आगे बढ़ाया।
उन्होंने देखा की पुणे शहर में खाने की कई सारी दुकाने और वडेवाला ब्रांड है जैसे रोहित वडेवाला और जोशी वडेवाला लेकिन चाय की कोई अच्छी सी दुकान नहीं है।
Read Also:-
Navanath Yewele Tea House
चाय जैसा पेय प्रोडक्ट भारत में बहुत फेमस है।  हर एक व्यक्ति को चाय की लत सी लगी है।  सुबह हो या शाम, घर हो या ऑफिस, अपने दोस्तों के साथ हो या रिश्तेदारों के साथ, चाय पीना तो सभी को पसंद है.
नवनाथ ने चाय के इस बिज़नेस को पहचाना।  उन्होंने देखा की यूँ तो चाय की कई सारी दुकाने है लेकिन वहा पर्याप्त साफसफाई और एक अच्छा सा टेस्ट नहीं है।
ये सब देखते हुए उन्होंने अपनी जमा पूंजी को इस चाय के बिज़नेस में लगाया और शुरू किया अपना स्टार्टअप। इनका चाय का ये बिज़नेस होम डिलीवरी के कारण पुणे में काफी चर्चा और शोर में है।
चाय का ये बिज़नेस आज उनको 12 लाख रुपये हर महीना कमा के देता है जो की एक IIT और IIM ग्रेजुएट को पुरे साल भर नहीं मिलता।
चाय बेचने वाले नवनाथ येवले  तब चर्चा में आये जब माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी रोजगार के विषय में बात कर रहे थे की पकोड़ा बेचना भी एक रोजगार है एक बिज़नेस ही है और प्रधान मंत्री भी खुद को एक चाय बेचने वाला ही बताते है.
अब ये बात कितनी सही है ये तो मुझे नहीं पता लेकिन पकोड़े के उलट चाय भी एक बिज़नेस है ये नवनाथ येवले ने सिद्ध कर दिया।
Read Also:
दोस्तों ये देखा गया है की छात्र कई सालो तक अपनी पढाई करता है और जब अपने मन के मुताबिक परिणाम नहीं मिलता है तो कोई गलत कदम उठा लेते है।
पढाई करने के बाद सोचते है की किसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम करेंगे या कोई अच्छी खासी सरकारी नौकरी करेंगे , लेकिन ध्यान देने वाली बात ये भी है की हर किसी को सरकारी नौकरी नहीं लगती है।
खुद का बिज़नेस या स्टार्टअप खोलना भी एक विकल्प है जिसे अपनाया जा सकता है तो कभी हार ना माने , कोशिश करते रहे।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये कहानी बहुत पसंद आयी होगी और इससे कुछ कर गुजरने की प्रेरणा भी मिली होगी।  मैं ऐसी ही ओर प्रेरणादायक कहानी लाता रहता हूँ जो मनोरंजक के साथ साथ प्रेरणा से भरी होती है।
अगर आप चाहते है की हमारी कोई भी कहानी मिस ना करे तो अभी हमें फॉलो कीजिए या सब्सक्राइब कीजिए ताकि आप पढ़ सके हमारी आने वाली हर एक मनोरंजक कहानी और ये बिलकुल फ्री है ।
आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।  आपका दिन शुभ रहे।  जय हिन्द जय भारत

Note:- This Article is in Hindi Language . I Researched a lot and i tried my best to write this article but if you found any grammatical mistake in this article please Cooperate with us, Keep Calm. Keep Support.

इस आर्टिकल के लिए अपनी प्रतिक्रिया (Comment) जरूर दे और अपने दोस्तों के साथ इसे जरूर शेयर करे।
ऐसी और कहानी पढ़ने के लिए हमें फॉलो या सब्सक्राइब कीजिए।