Board Exam टाइम टेबल कैसे बनाये

दोस्तों परीक्षा जीवन का एक पहलू है या यूँ कहे की जीवन ही एक परीक्षा है। किन्तु हमारी पहली परीक्षा तो विद्यार्थी जीवन में होती है।

बात Board Exam की हो जैसे क्लास 10 या 12 तो विद्यार्थी थोड़ा टेन्स हो जाता है क्योकि इस Board क्लास में पेपर स्कूल में नहीं बनते बल्कि बाहर से सेट होते है।

अगर आप चाहते है की बोर्ड क्लास की परीक्षा में 80 – 90 % लाये तो मैं जो आगे बात बताने जा रहा हूँ उसे ध्यान पूर्वक पढ़े, तो चले शुरू करते है।

बेहतर होगा की अभी से और इसी वक्त पढाई और अध्ययन में लग जाये ताकि अंत में महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर के पीछे ना भागना पढ़े।  जो लोग परीक्षा परिणाम में बेहतर प्रदर्शन करते है वो विद्यार्थी शुरू से ही थोड़ी थोड़ी मेहनत करते है ताकि अंत में फरवरी मार्च में पढाई बोझ ना बन जाए।

Read Also:

तो यहाँ मैं आपके लिए एक ऐसा TIMETABLE सुझाऊंगा जो आपकी पढाई में काफी हद तक सहायता करेगा. तो चलिए शुरू करते है ।

समय काफी कम बचा है, ऐसे में अगर एक अच्छी रणनीति बना कर न पढ़ा जाए तो इसका परिणाम FINAL  EXAM में देखने को मिल सकता है। लेकिन में जो TIMETABLE यहाँ बता रहा हूँ अगर आप उसके अनुसार पढाई करते है तो आपको अच्छे अंक के साथ उत्तीर्ण होने से कोई नहीं रोक सकता।

 

मैं आगे जो पॉइंट्स बताने जा रहा हूँ उसे ध्यान पूर्वक पढ़े-

 

  • सबसे पहले अपने दिमाग में ये बात बैठा ले की टाईमटेबल बनाना तो आसान है किन्तु उसे फॉलो करना उतना ही कठिन होता है, इसलिए टाईमटेबल जब भी बनाये उसे फ्लेक्सिबल बनाये यानी उसे आसानी से फॉलो किया जा सके।

 

  • टाइम टेबल बनाने जा रहे तो जोश जोश में ऐसा न बना ले की 10-12 घंटे की डेली स्टडी करेंगे | ऐसा करोगे तो पहले दिन ही नहीं पढ़ पाओगे | तो अपना टाईमटेबल ऐसा बनाओ जो Realistic हो, जिसे अच्छे से FOLLOW  किया जा सके |

 

  • टाईमटेबल ऐसा बनाए जिससे की हम अपनी Daily Life को बैलेंस करते चले | हम सभी के पास 24 घंटे होते है तो इस समय को अच्छे से उपयोग करे | हर चीज़ का अपना समय होता है , अगर में नींद की बात करू तो नींद पर्याप्त लेनी चाहिए, किन्तु 8 – 9  घंटे न सो जाए बल्कि  7-8 घंटे पर्याप्त होते है सोने के लिए , 6 घंटे रात में और आधा घंटा दोपहर में नींद ले जिसे हम Power Nap  कहते है जो पढाई के लिए बहुत जरुरी होती है |

 

Read Also : –

 

  • अपनी पढाई का नियम ऐसा हो जिसमे लम्बी सीटिंग न हो, मेरा मतलब  है की लगातार 1:30 से 2 घंटे पढ़ने के लिए नहीं  बैठना है | इसकी बजाय 50 – 10 का Thumb Rule अपना सकते है , यानि 50 मिनट पढाई और 10 मिनट आराम,

पर यहाँ आराम से मेरा मतलब ये नहीं है की सो जाए , सोना नहीं  है इसकी बजाय आप हल्का उल्का व्यायाम कर सकते है ताकि कंसंट्रेशन पावर और बढ़ जाए | जब पढाई  करे तो जरुरी नहीं की बैठे बैठे की जाए इसकी बजाय थ्योरी सब्जेक्ट को टहलते टहलते पढ़े

How To Make Board Exam Time Table

How To Make Board Exam Time Table

 

  •  विद्यार्थी 3 तरह  के होते है, पहली केटेगरी के वो जो रोज़ सवेरे 4 बजे उठकर पढ़ने लगते है जो की पढाई का सबसे अच्छा समय होता है , दूसरी केटेगरी के वो स्टूडेंट जो देर रात 4 बजे तक पढ़ते रहते है और सवेरे 8 बजे उठते है,ये भी पढाई का बेस्ट समय है

लेकिन तीसरी केटेगरी के स्टूडेंट वो है जो 12 बजे सोते है और 7 बजे उठते है | अगर आप पहली और दूसरी केटेगरी में आते है तब तो ठीक है लेकिन अगर आप तीसरी केटेगरी में आते है तो ये ध्यान रखे की ये लोग सबसे ज्यादा टाइम पास करते है अपना | इसलिए  Make Sure आप 1st और 2nd Category में ही रहे |

 

  • आपको ये जान लेना आवश्यक है की आप किस समय ज्यादा प्रोडक्टिव होते है मेरा मतलब है की किस समय आपकी ध्यान शक्ति सबसे ज्यादा होती है, बस उसी समय सबसे Tough Subject को पढ़े क्योकि ऐसे समय में Tough Subject को आसानी से याद किआ जा सकता है

Easy Subject को तब पढ़े जब आपका Concentration Level Low हो क्योकि Easy Subject को वैसे भी आप आसानी से पढ़ लेंगे | अब ये आपको पता करना है की आपका आसान विषय कोन सा है और कोन सा विषय कठिन है |

Read Also:-

 

  • विषय का समय विभाजन करते समय कोई गलती न करे , मतलब कठिन विषय को तो 3 घंटे पढ़ लिया  और आसान विषय को केवल आधा घंटा तो ऐसा न करे सभी विषय को प्राथमिकता दे |

 

  • टाईमटेबल बनाते वक्त ये गलती कभी न करे जो ज्यादातर विद्यार्थी करते है की 1 थ्योरी विषय बाद फिर से दूसरा थ्योरी विषय पढ़ना ऐसा कभी न करे इसकी जगह आप ये कर सकते है की 1 थ्योरी विषय पढ़ने के बाद दूसरा प्रैक्टिकल विषय पढ़े | इससे एक बैलेंस बनता जाएगा |

 

  • समय को ऐसे फिक्स करे जिसमे 2 टाइम स्लॉट में खुद की परीक्षा ले एक तो सवेरे और दूसरा शाम को क्योकि इससे ये पता चलेगा की आप कितना पानी में है और कितनी और मेहनत की जरुरत है |

 

  • जब परीक्षा नज़दीक हो तो कोई भी नए टॉपिक को नहीं पढ़ना चाहिए क्योकि इससे आप पढ़ तो नही पाओगे और अगर अगर कुछ समझ में नहीं आया तो और चिंता लेने लगोगे तो अंत समय में पहले से पढ़े हुए टॉपिक को ही फिर से पढ़े।

Read Also:

 

और अंत में मैं यही कहना चाहता हूँ की अभी से परिणाम की चिंता न करे बल्कि पुरे मन से और ध्यान से पढाई करे |

सकारात्मक रहे और जैसा मेने ऊपर टाइम टेबल  सुझाया (Suggest) किया है वैसे ही उसको फॉलो करे | आप जरूर सफल होंगे.

 

इसी आशा के साथ में  लेता हूँ , आपका दिन शुभ रहे |
धन्यवाद ||