हर समस्या का एक समाधान होता है (Every Problem has a Solution):
Har Samasya Ka Ek Samadhan Hota Hai: Every ProblemHas A Solution
इस आधुनिक युग में परेशानी किस को नहीं है। आप चाहे स्त्री हो या पुरुष, आप जॉब करते हो या स्टूडेंट हो , बिज़नेस करते हो या हाउस वाइफ हो, घर में हो या बाहर,  परेशानी तो हर किसी को होती है। लेकिन जब ये समस्या और ये परशानी हद से ज्यादा आपको परेशान  करने लगे तब आप क्या करेंगे ? 

चलो में एक बहुत ही रोचक कहानी के जरिये आपको समझाता हूँ की कैसे समस्याओ से लड़े  और अपने जीवन में आगे बढ़ते जाए। तो क्या आप तैयार है वो रोचक कहानी सुनने के लिए…

चलिए तो शुरू करते है…

” एक बार की बात है , एक विद्यालय की एक कक्षा में अध्यापक अपने साथ में एक पत्थर का टुकड़ा लाते है।  अध्यापक विद्यार्थियों से पूछते है की बताओ इस पत्थर का वजन क्या होगा…
200 ग्राम , 300 ग्राम  या 500 ग्राम?

तब विद्यार्थी कहते है की ये तो तराजू में तोलने के बाद ही पता चलेगा।

Read Also:-

अध्यापक फिर से पूछते है की क्या होगा अगर मैं इस पत्थर को 2 मिनट के लिए पकडे रखु ?
तब विद्यार्थी तपाक से कहते है की कुछ नहीं होगा।
अध्यापक फिर से विद्यार्थियों से पूछते है की क्या होगा अगर में इस पत्थर को 2 घंटे के लिए पकडे रखु ?
तब विद्यार्थियों ने कुछ सोचते हुए कहा की इससे तो आपकी बाजू में दर्द होगा।
यह सुनने के बाद अध्यापक फिर से पूछते है की बच्चो अब ये बताओ की अगर में इस पत्थर को पुरे दिन के लिए अपने हाथ में पकडे रखु तब क्या होगा।
तब सभी विद्यार्थी गण असमंजस में पड़ गए की अध्यापक जी हम से क्या पूछना चाहते है?
तब एक छात्र ने थोड़ा हसते हुए जवाब दिया की अगर आप इस पत्थर को पुरे दिन के लिए अपने हाथ से पकडे रखोगे तो इससे आपके हाथ में बहुत तेज़ दर्द होगा , आपके हाथ में लकवा भी हो सकता है , हो सकता है की आपका हाथ काम करना ही बंद कर दे और तो और आपको अस्पताल भी भर्ती करना पढ़ सकता है।

तब अध्यापक कहते है की में आपसे यही तो कहना चाहता हूँ की  ये पत्थर उन सभी समस्याओ और परेशानियों के सामान है जो 2 मिनट के लिए हमारे मस्तिष्क में रहे तो कुछ नहीं होगा और अगर 2 घंटे के लिए रहे तो सर दर्द होगा.

 

अगर ये समस्याए पुरे दिन तक हमारे साथ रही तो हम ओर काम नहीं कर पाएंगे , अपना ध्यान विकाशशील कामो में नहीं लगा पाएंगे और हम आगे नहीं बढ़ पाएंगे।

 

Read Also:-

तो अच्छा होगा अगर हम इन समस्याओ को ज्यादा समय तक अपने दिमाग में न रखे , इन परेशानियों का जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी हल निकालकर इसका निराकरण करे , चिंता मुक्त रहे क्योकि चिंता चीता सामान होती है।
तो परेशानियों से घबराए ना बल्कि उसका डट कर सामना करे तभी आप एक वीर योद्धा कहलाएंगे।  अगर आपने समस्याओ का सामना करके एक मुकाम हांसिल किया तो आपकी मिसाले दी जाएगी और अगर आप परेशानियों से हार कर अपनी जिन्दगी ख़तम करने की सोच रहे है तो सब लोग आपको धित्कारेंगे।
तो फैसला आपका अपना है की आपको क्या करना है।
और अगर आप जिन्दा है तो परेशानिया तो होगी ही। हर वक्त ख़ुशी ही मिले तो ये संभव नहीं है। क्योकि हर सिक्के के दो पहलु होते है और अगर आप ख़ुशी की कीमत जानना चाहते है तो आपको दुखी भी होना पड़ेगा।
कोई भी मंजिल इतनी आसानी से नहीं  मिलती है, उसके लिए दृढ़ निश्चय और कठोर परिश्रम की आवश्यकता होती है।  हम सभी मुसाफिर तो है जिन्हे मंजिल से ज्यादा प्यार नहीं रखना चाहिए बल्कि उस मंजिल तक पहुँचाने वाले रास्ते से प्यार करना चाहिए तभी आप सुखी रह पाएंगे।
अगर कोई व्यक्ति मुझसे पूछता है की क्या इस दुनिया में ऐसी कोई जगह है जहाँ कोई भी दुखी न हो ? क्या ऐसा कोई स्थान है जहाँ बस शांति ही शांति बानी रहे ??
तब में उससे कहूंगा की हाँ ऐसी जगह है जहाँ कोई भी दुखी नहीं है  और वहां बहुत शांति भी है और उस जगह का नाम है – श्मशान ,,,

हाँ दोस्तों आपने ठीक पढ़ा है।  तो ख़ुशी मनाइए की आपके पास समस्याए है और भगवान् ने आपको बुद्धि से भरपूर ये मस्तिष्क दिया है तो इसका इस्तेमाल कीजिए और समस्याओ से निजात पाइए।

 

Read Also:-

तो दोस्तों यही थी आज की कहानी।  आप को कैसी लगी मुझे निचे कमेंट करके जरूर से बताइए।
अगर आप सभी मेरी हर एक पोस्ट को पढ़ना चाहते है तो जल्दी से और अभी मुझे फॉलो कीजिए,  ताकि हमारी आगे आने वाली कोई भी पोस्ट आप मिस न करे और ये बिलकुल फ्री (मुफ़्त) है दोस्तों ….

तो चलिए मिलते है फिरसे एक नई पोस्ट में तब तक के लिए आप अपना ध्यान रखे,  आपका दिन शुभ रहे  ,

जय हिन्द जय भारत
धन्यवाद।
Ye Jarur Padhe:

NOTE:- This Article is for Educational Purpose. I tried My Best to write this article. This article is written in Hindi Language and if you find any Grammatical mistake so please Keep Support and Keep Calm. Thankyou. (Real Inspiration For U)